Category Archives: buddhism in india

उन्होंने बौद्ध की शिक्षाओं की शिक्षाओं को चुराना शुरू किया और ब्राह्मण धर्म का ठप्पा लगाकर समाज में उतार दिया

ब्राह्मण धर्म के पास ऐसा कुछ भी नहीं था, जिसे संस्कारवान या नैतिकता कहा जाये। अतः उन्होंने बुद्ध की शिक्षाओं को चुराना शुरू किया और ब्राह्मण धर्म का ठप्पा (मुहर) लगाकर बाजार (समाज) में उतार दिया। *कैसे ?* बौद्ध (1) *गुरु पूर्णिमा* :- गौतम बुद्ध ने आषाढ़ पूर्णिमा के दिन सारनाथ में प्रथम बार पांच… Read More »